शाहरुख खान के बेटे आर्यन को ड्रग्स केस में किया अरेस्ट , कोर्ट ने एक दिन की NCB कस्टडी में भेजा


 Satyakam News | 03/10/2021 11:44 PM


मुंबई। शाहरुख खान के बेटे आर्यन को ड्रग्स केस में अरेस्ट किया गया है। नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने रविवार को उन्हें हॉलिडे कोर्ट में पेश किया। कोर्ट ने आर्यन और उनके साथ अरेस्ट किए गए अरबाज मर्चेंट और मुनमुन धमीचा को एक दिन के लिए NCB की कस्टडी में भेज दिया है। इसके बाद NCB की टीम तीनों को वापस अपने दफ्तर ले आई।

इधर, रविवार देर शाम NCB ने इसी मामले में हिरासत में लिए गए 5 और लोगों को गिरफ्तार कर लिया। इन पांचों के नाम हैं- नुपुर सारिका, इस्मीत सिंह, मोहक जसवाल, विक्रांत छोकर और गोमित चोपड़ा। इन सभी को NCB सोमवार को कोर्ट में पेश कर ज्यूडिशयल कस्टडी की मांग करेगी। जानकारी के मुताबिक, एक अन्य व्यक्ति को NCB ने बेलापुर से गिरफ्तार किया है। इस तरह केस में कुल 9 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है।

कोर्ट में सरकारी वकील अद्वैत सेतना ने कहा- NCB की तरफ से हम आर्यन खान, अरबाज और मुनमुन धमीचा की रिमांड मांगते हैं। आरोपियों के पास से वॉट्सऐप चैट मिले हैं, जिनकी जांच जारी है। इसके अलावा आरोपियों से प्रतिबंधित ड्रग्स भी मिली है। उसके सोर्स और लिंक्स खंगालने जरूरी हैं।

सेतना ने कहा कि वॉट्सऐप चैट से पता चलता है कि आरोपी ड्रग कंजंप्शन और ड्रग्स नेक्सेस से जुड़े हुए हैं। इसके बाद स्टेट बनाम अनिल शर्मा केस का हवाला देते हुए सेतना ने जमानती धारा में आर्यन की कस्टडी की मांग की।

आर्यन की तरफ से वकील सतीश मानशिंदे ने पैरवी की। मानशिंदे मशहूर क्रिमिनल लॉयर हैं और उन्होंने ही रिया चक्रवर्ती के केस की पैरवी की थी। मानशिंदे ने कहा- मेरे क्लाइंट का केस जमानती है। मैं जमानत की अर्जी दाखिल करता, लेकिन रविवार होने की वजह से ऐसा नहीं हो पाया। मेरे क्लाइंट को आयोजकों ने बुलाया था। उनके पास क्रूज का टिकट भी नहीं था। उनके पास कुछ भी बरामद नहीं हुआ। इसके अलावा उनके मोबाइल फोन की भी जांच की जा चुकी है। उसमें भी कुछ नहीं मिला।

मानशिंदे ने दलील दी- NCB ने भी कहा है कि आर्यन के पास से कुछ बरामद नहीं हुआ। न ही उन्होंने किसी तरह की ड्रग्स ली हैं। अब जबकि उनके पास कुछ नहीं मिला, तो वे नई रेड करेंगे। हालांकि, अब तक कुछ भी बरामद नहीं हुआ है। हालांकि, NCB ने हम पर कोई दबाव नहीं डाला और किसी तरह की मांग नहीं रखी। लिहाजा, मेरे क्लाइंट को एक दिन के लिए उनकी कस्टडी में भेजे जाने पर मुझे कोई ऐतराज नहीं है।

इससे पहले, आर्यन से NCB ऑफिस में करीब 4 घंटे पूछताछ की गई। यहां से आर्यन समेत तीनों आरोपियों को मेडिकल टेस्ट के लिए जेजे हॉस्पिटल ले जाया गया। टीम उन्हें हॉस्पिटल के इमरजेंसी गेट से अंदर ले गई। मेडिकल टेस्ट के बाद NCB की टीम तीनों को वापस ऑफिस ले गई।

बताया जाता है कि आर्यन, अरबाज और मुनमुन के पास से 13 ग्राम कोकीन, 5 ग्राम MD, 21 ग्राम चरस, MDMA की 22 गोलियां और 1.33 लाख रुपए मिले हैं। इस मामले में 2 लड़कियों समेत 5 लोग अब भी हिरासत में हैं। सभी से पूछताछ की जा रही है। बताया जाता है कि ड्रग पैडलर को भी पूछताछ के लिए NCB ऑफिस लाया गया है।

यह ड्रग्स पार्टी मुंबई के पास 'कॉर्डेलिया द इम्प्रेस' क्रूज पर चल रही थी। जिस वक्त NCB ने छापा मारा, उस वक्त पार्टी में 600 लोग शामिल थे। NCB सूत्रों के मुताबिक आर्यन भी उस क्रूज पर मौजूद थे, जहां यह रेव पार्टी चल रही थी। NCB ने रेव पार्टी के ऑर्गेनाइजर्स को पूछताछ के लिए बुलाया है।

आर्यन की गिरफ्तारी NDPS के सेक्शन 8C, 20B और 27, 35 के तहत हुई है। इनमें सेक्शन 8 C ड्रग्स लेने पर लगती है। नारकोटिक ड्रग्स एंड साइकोट्रॉपिक सब्सटेंस एक्ट, 1985 (NDPS) नशीली दवाओं से जुड़ा सख्त कानून है। इसकी धारा 27 के तहत, अगर कोई नारकोटिक ड्रग्स लेता है, तो यह भी दंडनीय अपराध है।

इस धारा के क्लॉज (A) में कहा गया है कि कोकीन, मॉर्फीन जैसे नारकोटिस ड्रग्स का सेवन करने का दोषी पाए जाने पर एक साल की सजा या 20 हजार रुपए का जुर्माना या फिर दोनों एक साथ हो सकते हैं।

मुनमुन का मध्य प्रदेश के सागर से कनेक्शन ड्रग्स केस में अरेस्ट हुई मुनमुन धमीचा मध्यप्रदेश के सागर जिले की रहने वाली है। उसका एक भाई है, जो दिल्ली में निजी कंपनी में काम करता है। मुनमुन सागर से 8 साल पहले दिल्ली गई थी। वहीं प्राइवेट नौकरी कर रही थी। फिलहाल सागर में उसके परिवार से कोई नहीं है। यादव कॉलोनी में उसका तीन मंजिला मकान बंद पड़ा है। मुनमुन की मां की कोरोना की दूसरी लहर में मौत हाे चुकी है।

जानकारी के मुताबिक जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े ने इस ऑपरेशन को लीड किया। वे अपनी टीम के साथ मुंबई में उस शिप पर सवार हो गए थे। शिप बीच समुद्र में पहुंचा तो वहां ड्रग पार्टी शुरू हो गई। पार्टी में लोगों को ड्रग्स लेते देख टीम ने ऑपरेशन शुरू कर दिया। पकड़े गए सभी लोगों को रविवार को मुंबई लाया जाएगा।

NCB प्रमुख एसएन प्रधान ने बताया कि दो हफ्ते की इन्वेस्टिगेशन के बाद हम यह रेड कर पाए। इसमें बॉलीवुड के कई लोगों के लिंक सामने आए हैं। हम निष्पक्ष तरीके से कार्रवाई कर रहे हैं। अगर इस प्रक्रिया में बॉलीवुड या अमीर लोगों से कोई कनेक्शन सामने आता है तो आने दीजिए। हम कानून के दायरे में रहकर काम करेंगे।

जिन लोगों को हिरासत में लिया गया है उनसे मिलने वाली जानकारी के आधार पर हम आगे और भी छापेमारी करेंगे। पिछले एक साल में हमने मुंबई में ही 300 से ज्यादा रेड की हैं। ये छापेमारियां जारी रहेंगी, फिर चाहे इसमें विदेशी, फिल्म इंडस्ट्री के लोग या अमीर लोग शामिल हों। हमारा लक्ष्य देश को ड्रग्स मुक्त बनाना है।

NCB को सूचना मिली थी कि पार्टी में ड्रग्स सर्व की जा रही है। NCB के अफसर पैसेंजर बनकर क्रूज पर सवार हो गए। शनिवार को रेव पार्टी चलते वक्त ही उन्होंने रेड मारी। अब तक की जानकारी के मुताबिक शिप से भारी मात्रा में ड्रग्स जब्त हुई है। इसकी कीमत करोड़ों में बताई जा रही है। सूत्रों के मुताबिक बरामद ड्रग्स एमडी कोक और हशीश है।

जिस क्रूज़ पर ड्रग्स पार्टी हो रही थी उसमें एंट्री फीस 60 हजार रुपए से लेकर 5 लाख रुपए तक रखी गई थी। NCB छापेमारी के दौरान क्रूज पर करीब 600 हाईप्रोफाइल लोग मौजूद थे, जबकि इस वर्ल्ड क्लास क्रूज की क्षमता करीब 1800 लोगों की है। ये तमाम बड़े हाईप्रोफाइल लोग इंस्टाग्राम और दूसरे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के जरिए इस पार्टी में इनवाइट किए गए थे। कुछ लोगों को बाकायदा बाय पोस्ट भी एक किट के जरिए इन्विटेशन भेजे गए थे।

NCB मुंबई के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े ने दैनिक भास्कर से बातचीत में बताया कि शिप को डिटेन करना हमारे अधिकार क्षेत्र में नहीं आता है। हमने अपनी कार्रवाई करके शिप को जाने दिया। अब शिप कहां गया यह हमें नहीं पता। वानखेड़े का कहना है कि शिप पर बहुत सारे लोग थे, हमने उन्हें भी जाने दिया। जिन पर हमें शक था हमने सिर्फ उन्हें ही पूछताछ के लिए डिटेन किया। हालांकि, सूत्रों के अनुसार यह शिप अभी समंदर में हैं और सोमवार सुबह तक गोवा पहुंच जाएगा।

NCB के सूत्रों के मुताबिक, आर्यन ने किसी भी तरह के ड्रग्स के सेवन से इनकार किया है और पूछताछ के दौरान अधिकारियों से कहा भी कि अब्बू ने आगाह करते हुए कहा था कि NCB वाले इस वक्त चारों तरफ हैं। कहीं भी जाना तो सोच-समझकर जाना और बच कर रहना।

Follow Us