कांग्रेस ने केंद्र पर निशाना साधते हुए पूछा - गुजरात तट ड्रग्स तस्करी का पसंदीदा रास्ता क्यों?


 Satyakam News | 21/09/2021 10:03 PM


नई दिल्ली। कांग्रेस ने मंगलवार को गुजरात के मुंद्रा बंदरगाह पर करीब 15000 करोड़ रुपए कीमत की करीब 3,000 किलोग्राम हेरोइन की जब्ती को लेकर केंद्र पर हमला बोला है। हेरोइन की जब्ती पर कांग्रेस ने केंद्र पर निशाना साधते हुए पूछा कि आखिर कैसे सरकार और नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो की नाक के नीचे इस तरह का ड्रग सिंडिकेट चल रहा है। 

बता दें कि राजस्व खुफिया निदेशालय (डीआरआई) ने गुजरात के कच्छ जिले के मुंद्रा बंदरगाह पर दो कंटेनरों से 15,000 करोड़ रुपए मूल्य की 2,988.21 किलोग्राम हेरोइन जब्त की और बाद में चेन्नई से एक आयात फर्म चलाने वाले एक जोड़े को गिरफ्तार किया। कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने सरकार से यह भी सवाल किया कि नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) के पूर्णकालिक प्रमुख का पद 18 महीने से खाली क्यों है? खेड़ा ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह, जो गुजरात से हैं, इस ड्रग सिंडिकेट को तोड़ने में असमर्थ क्यों हैं? 

उन्होंने आरोप लगाया कि पिछले कुछ महीनों में भारत में मादक पदार्थों की तस्करी में काफी वृद्धि हुई है और यह पिछले कुछ सालों से चल रहा है। मंगलवार को पार्टी मुख्यालय में मीडिया से बात करते हुए पवन खेड़ा ने कहा कि यह न केवल भारत के युवाओं के वर्तमान और भविष्य को नष्ट कर सकता है, बल्कि यह वैश्विक स्तर पर आतंकवादी संगठनों के वित्तपोषण के लिए संभावित वित्त पोषण का मार्ग है। खेड़ा ने दावा किया कि मुंद्रा पोर्ट से लगभग तीन टन हेरोइन की जब्ती न केवल भारत में, बल्कि दुनिया में सबसे बड़ी अवैध दवाओं में से एक है। 

खेड़ा ने दावा किया कि जब्त ड्रग्स की कीमत अंतरराष्ट्रीय बाजार में 21000 करोड़ रुपए है। कांग्रेस ने सरकार से सवाल किया है कि इतनी बड़ी मात्रा ड्रग्स पोर्ट पर कैसे पहुंचा, सरकार और नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो क्या कर रहा था? खेड़ा ने दावा किया कि पिछले कुछ सालों में गुजरात तट पाकिस्तान, ईरान या अफगानिस्तान से भारत में मादक पदार्थों की तस्करी के लिए सबसे पसंदीदा मार्ग बन गया है। ड्रग्स की जब्ती को लेकर खेड़ा ने सरकार से कई सवाल भी किए। खेड़ा ने पूछा कि क्या ड्रग्स की 10 खेपों को जाने दिया जा रहा है और एक पकड़ लिया जा रहा है ताकि लोगों को यह पता चल सके एजेंसियां काम कर रही है।

उधर मुंद्रा पोर्ट ने मामले में अपना पक्ष रखा है। इसमें मुंद्रा पोर्ट की तरफ से कहा गया है कि 16 सितंबर 2021 को, DRI और सीमा शुल्क के एक संयुक्त अभियान ने मुंद्रा इंटरनेशनल कंटेनर टर्मिनल (MICT), मुंद्रा पोर्ट पर पहुंचे अफगानिस्तान से दो कंटेनरों से भारी मात्रा में प्रतिबंधित हेरोइन का पता लगाया। हम अवैध ड्रग्स को जब्त करने और आरोपी को पकड़ने के लिए डीआरआई और सीमा शुल्क टीमों को धन्यवाद देते हैं और बधाई देते हैं। मुंद्रा पोर्ट ने कहा है कि हमें पूरी उम्मीद है कि यह बयान अदाणी समूह के खिलाफ सोशल मीडिया पर चलाए जा रहे प्रेरित, दुर्भावनापूर्ण और झूठे प्रचार पर विराम लगा देगा। 

Follow Us