महाराष्ट्र : नाबालिग से कई बार हुआ दुष्कर्म, 7 महीने की प्रेग्नेंट दुष्कर्म पीड़ित ने फांसी लगाई


 Satyakam News | 11/09/2021 9:51 PM


मुंबई। महाराष्ट्र में 30 साल की युवती के साथ हुई हैवानियत और फिर उनकी मौत ने सबको सन्न कर दिया है। अब राज्य के ही अमरावती जिले में एक नाबालिग लड़की के साथ दुष्कर्म का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि दुष्कर्म के बाद नाबालिग लड़की ने आत्महत्या कर ली। इस मामले के आरोपी को 15 सितंबर तक पुलिस रिमांड में भेजा गया है। इस मामले में इलाके के पुलिस सब-इंस्पेक्टर दिलीप पाटिल ने मीडिया को जानकारी दी है कि शुक्रवार को एक शिकायत दर्ज कराई गई थी। यह दावा किया गया था कि एक युवक ने 15 साल की लड़की के साथ कई बार दुष्कर्म किया। लड़की गर्भवती भी हो गई थी। 

पुलिस ने कहा, 'हमें शिकायत मिली थी कि एक युवक ने नाबालिग लड़की के साथ कई बार दुष्कर्म किया। वो गर्भवती हो गई और बाद में उसने फांसी लगा ली। आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। अदालत ने आरोपी को 15 दिनों के लिए पुलिस रिमांड पर भेजा है। 

इधर इसी तरह के एक अन्य मामले में महाराष्ट्र की एक अदालत ने ठाणे जिले में ढाई साल की बच्ची के बलात्कार के आरोपी 49 वर्षीय व्यक्ति को दोषी करार देते हुए दस साल के सश्रम कारावास की सजा सुनाई है।  अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश कविता डी शिरभाते ने भारतीय दंड संहिता तथा यौन अपराधों से बच्चों का संरक्षण कानून (पोक्सो) की संबंधित धाराओं के तहत मुंब्रा के रहने वाले आरोपी को उसके परिचित की ढाई साल की बच्ची से बलात्कार करने का दोषी पाया और उसे दस साल के सश्रम कारावास की सजा सुनाई। अदालत ने दोषी पर दस हजार रूपये का जुर्माना भी लगाया।

अभियोजन पक्ष के मुताबिक दोषी व्यक्ति पीड़ित परिवार के साथ ही रह रहा था, वह और पीड़ित परिवार एक ही गांव से हैं। पांच मई 2014 की रात को पीड़ित परिवार बच्ची और उसकी बड़ी बहन को आरोपी की देखभाल में छोड़कर बाहर गया था। जब वे लौटे तो देखा कि बच्ची बेहोश है और उसका खून बह रहा है जबकि आरोपी गायब था। बच्ची को अस्पताल ले जाया गया जहां चिकित्सकों ने बलात्कार की पुष्टि की जिसके बाद पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई गई और आरोपी को गिरफ्तार किया गया। 

मुंबई के उपनगरीय इलाके साकीनाका में बलात्कार और निजी अंगों में लोहे की छड़ डालने की वीभत्सता का शिकार बनी 34 महिला ने यहां नगरपालिका के एक अस्पताल में इलाज के दौरान शनिवार तड़के दम तोड़ दिया। पुलिस ने बताया कि महिला के निजी अंगों में गंभीर चोटें आईं थी और हादसे में उसका बहुत खून बह गया था। एक अधिकारी ने बताया कि वह शुक्रवार तड़के से राजावाड़ी अस्पताल में जिंदगी की जंग लड़ रही थी। उन्होंने बताया कि महिला से बलात्कार के बाद और छड़ से निर्ममता से उसपर हमला करने के बाद आरोपी ने उसपर चाकू से भी वार किया। अधिकारी ने बताया कि यह घटना शुक्रवार तड़के सामने आया था जब पुलिस को साकीनाका में खैरानी रोड पर एक शख्स के एक महिला पर हमला करने के बारे में फोन आया था।
     
उन्होंने बताया कि पुलिस मौके पर पहुंची जहां उसने महिला को खून से सना हुआ पाया जिसके बाद उसे राजावाड़ी अस्पताल में भर्ती कराया गया।  अधिकारी ने कहा, 'जांच के दौरान, सामने आया कि सड़क किनारे खड़े एक टैंपो के भीतर महिला से बलात्कार किया गया और उसके शरीर एवं निजी अंगों पर लोहे की छड़ से निर्ममता से वार किया गया।' साथ ही बताया कि पुलिस को टैंपो में खून के निशान भी मिले।
     
उन्होंने बताया कि इलाके की सीसीटीवी फुटेज खंगालने पर पुलिस ने एक संदिग्ध की पहचान की है जो वीडियो में टैंपो से बाहर निकलता दिख रहा है। पुलिस ने बाद में मोहन चौहान (45) को गिरफ्तार कर उसके खिलाफ मामला दर्ज कर लिया।

Follow Us