आयकर विभाग ने गुजरात के मीडिया व रियल एस्टेट कारोबारी समूह पर छापा, 1000 करोड़ रुपये का बेहिसाबी लेनदेन उजागर


 Satyakam News | 10/09/2021 10:43 PM


नई दिल्ली। आयकर विभाग ने गुजरात के मीडिया व रियल एस्टेट कारोबारी संभव समूह के खिलाफ कर चोरी की जांच शुरू की है। केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने शुक्रवार को बताया कि बीते तीन दिनों से  जारी जांच में अब तक 1000 करोड़ रुपये से ज्यादा के बेहिसाबी लेनदेन का पता लगाया जा चुका है। संभव ग्रुप का मुख्यालय अहमदाबाद में है। 

सीबीडीटी ने एक बयान में कहा कि आठ सितंबर को संभव समूह के 20 परिसरों में तलाशी शुरू की गई जो गुजरात के प्रमुख व्यापारिक घरानों में से एक है। जांच अब भी जारी है। अधिकारियों ने बताया कि संभव समूह की मीडिया इकाई में इलेक्ट्रॉनिक, डिजिटव व प्रिंट तीनों मीडिया शामिल हैं। जबकि इसकी रियल एस्टेट इकाई में सस्ते आवास बनाने व शहरी बुनियादी ढांचे के विकास का काम किया जाता है। 

सीबीडीटी के बयान में दावा किया गया है कि अब तक की जांच में 1000 करोड़ रुपये से ज्यादा की बेहिसाबी लेनदेन का पता चला है। यह विभिन्न कर आकलन वर्षों से जुड़ा है। छापों के दौरान एक करोड़ रुपये नकद और 2.70 करोड़ रुपये के आभूषण भी जब्त किए गए हैं। समूह के 14 लॉकरों को सील कर दिया गया है।

संभव ग्रुप की मीडिया इकाई में गुजराती न्यूज चैनल वीटीवी न्यूज, अभियान मैगजीन, इवनिंग न्यूजपेपर संभव मेट्रो और रेडियो स्टेशन टॉप एफएम शामिल हैं। इसके चैनल हेड हेमंत गोलानी ने बुधवार को कहा था कि वीटीवी न्यूज के परिसरों में छापेमारी की जा रही है। 

सीबीडीटी के अनुसार जांच में आपत्तिजनक दस्तावेज भी मिले हैं। ये 500 करोड़ रुपये से अधिक के नकद लेनदेन का संकेत देते हैं। अचल संपत्ति परियोजनाओं और जमीनों के सौदों में ऑन-मनी के 350 करोड़ रुपये से अधिक साक्ष्य मिले हैं। करीब 150 करोड़ रुपये के नकद ऋण व ब्याज भुगतान व पुनर्भुगतान के भी सबूत मिले हैं। संपत्तियां व परियोजनाएं भी छद्म लोगों के नाम पर मिली हैं। 

Follow Us